Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


सड़कें खराब मिली तो ठीकेदारोंपर चलवा दूंगा बुलडोजर-गडकरी

मुंबई केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने सड़कों की गुणवत्ता के साथ कोई समझौता नहीं करने पर बल देते हुए कहा कि सड़क खराब निकलने पर वह ठेकदारों पर बुलडोजर चलवा देंगे.गडकरी ने यहां एक पुस्तक किताब विमोचन समारोह में बात कही. गडकरी की यह टिप्पणी सड़क गुणवत्ता पर टिप्पणी उच्चतम न्यायालय की चिंताओं के बाद आयी है. न्यायालय ने कहा था कि सड़क दुर्घटनाओं में देश में 14,000 से ज्यादा मौतें सड़कों पर गड्ढे के कारण होती हैं. यह आतंकी हमलों में मारे गये लोगों की संख्या से अधिक है. सड़क पर गड्ढों के कारण इस कदर लोगों की मौत स्वीकार्य नहीं है. यह पुस्तक भारत की प्रगति के बारे में है इसका शीर्षक है इंडिया इंस्पायर्स रीडिफाइनिंग द पॉलिटिक्स ऑफ डिलीवरेंस. इसके लेखक एक राजनीतिक कार्यकर्ता तुहिन ए सिन्हा हैं. केंद्रीय मंत्री ने कहा, मैंने कई बड़े ठेकेदारों से कहा कि यदि उनके द्वारा बनायी गयी सड़कों की गुणवत्ता खराब निकली तो मैं उन्हें बुलडोजर के नीचे डलवा दूंगा.श्  गडकरी ने कहा कि मेरे मंत्रालय ने पिछले साढ़े चार साल में 10,000 अरब रुपये के सड़क निर्माण के ठेके दिये हैं. पारदर्शिता पर चिंताओं को दूर करते हुए मंत्री ने कहा कि इन दिनों किसी भी ठेकदार को ठेकों के लिए दिल्ली आने के लिए मजबूर नहीं किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि जब हमारी सरकार आयी तो सड़क निर्माण की दर 2 किलोमीटर प्रति दिन थी।
 लेकिन अब यब बढ़कर 28 किलोमीटर प्रति दिन हो गयी है. इसे मार्च 2019 तक बढ़ाकर 40 किलोमीटर प्रति दिन करने का लक्ष्य है. गडकरी ने कहा कि देशभर में 12 नये एक्सप्रेसवे पर काम चल रहा है.  न्यायमूर्ति मदन बी लोकूर की अध्यक्षता वाली पीठ ने बृहस्पतिवार को नाराजगी जताते हुए कहा था कि देशभर में गड्ढ़ों के कारण बड़े पैमाने पर मौत होती है।
----------------------
 मंचपर ही बेहोश हुए गडकरी, अस्पतालमें भर्ती
मुम्बई। महाराष्ट्र के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के शरीर में मधुमेह का स्तर सामान्य से कम हो जाने के कारण उनका सिर चकराने लगा और वह कुछ क्षण के लिए बेहोश हो गए । जिसके बाद तत्काल डॉक्टरों का एक दल मौके पर पहुंचकर उनका उनका प्राथमिक उपचार किया । प्राथमिक उपचार के बाद गडकरी को राहत मिली । जिसके बाद वह विशेष व्यवस्था के साथ नागपुर रवाना हो गए। प्राप्त सूचना के अनुसार केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी महाराष्ट्र के राज्यपाल सी. विद्यासागर राव के साथ अहमदनगर जिले के राहुरी स्थित महात्मा फुले कृषि विद्यापीठ के दीक्षांत समारोह में भाग लेने पहुंचे थे । गडकरी के दीक्षांत समारोह में संबोधन के बाद राष्ट्रगान गया जा रहा था, उसी दौरान गडकरी को चक्कर आया और वह कुछ क्षणों के लिए बेहोश हो गए ।   प्राप्त खबर के अनुसार गडकरी अहमदनगर दौरे के बाद शिरडी जाकर साई बाबा के दर्शन करने तथा एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करने वाले थे , लेकिन खबर के अनुसार वह शिरडी आने के बजाय नागपुर रवाना हो गए । बाद में गडकरी ने अपने सोशल आधिकारिक खाते से सूचित किया कि शरीर मे मधुमेह का स्तर नीचे चले जाने की वजह से तवियत बिगड़ी थी , अब वह सामान्य है ।