Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


दिल्लीमें जेएनयूके छात्रों पर पुलिसका लाठीचार्ज

फीस वृद्धिके खिलाफ संसदका घेराव करने जा रहे थे छात्र,पुलिसने किया लाठीजार्च का खंडन
नयी दिल्ली (आससे)। छात्रावास की फीस बढ़ाये जाने के खिलाफ आंदोलन कर रहे जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्रों पर आज पुलिस ने लाठीचार्ज किया। छात्र संसद का घेराव करने का प्रयास कर रहे थे। उन्हें रोकने के लिये कुछ मेट्रो स्टेशनों को भी बंद करना पड़ा।  आज छात्र कैंपस के मेन गेट से १०० मीटर आगे बढ़े थे कि पुलिस ने उन्हें वहीं पर रोक लिया। कुछ छात्र आगे बढऩे में कामयाब हो गये। छात्रों के मार्च को देखते हुये उद्योग भवन, पटेल चौक और केंद्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशन को कुछ समय के लिये बंद कर दिया गया। छात्रों के विरोध प्रदर्शन के बाद जेएनयू प्रशासन ने बढ़ी हुयी फीस में कमी करने की घोषणा कर दी थी, लेकिन छात्रों की मांग है  कि पुरानी फीस को ही लागू किया जाय, उन्हें फीस में किसी तरह की बढ़ोत्तरी मंजूर नहीं है। बता दें कि विद्यार्थियों से पहले ढाई हजार रुपये मेस बिल लिया जाता था, जिसे बढ़ाकर ६५०० रुपये कर दिया गया। छात्रों का आरोप है कि यह निर्णय लेने से पहले छात्र संघ और छात्रावास अध्यक्ष से कोई सलाह मशविरा नहीं किया गया। विद्यार्थियों का कहना है कि पुलिस लाठीचार्ज में कई छात्र घायल हुये हैं, लेकिन पुलिस ने इन आरोपों को खारिज किया है। केंद्रीय जिला के डीसीपी एसएस रनधावा के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने बहुत संयम से काम किया है, कहीं भी लाठीचार्ज नहीं हुआ है। छात्रों ने बैरिकेड तोड़ा है और वहां से भागे हैं, इसलिये हो सकता है उसमें उनकों चोट आयी हो।  मालूम हो कि संसद तक मार्च का आह्वान करते हुये जेएनयू छात्र संघ ने दूसरे विश्वविद्यालय के छात्रों से भी इसमें शामिल होने की अपील की थी, लेकिन जेएनयू प्रशासन ने मार्च के इजाजत नहीं दी थी। बता दें कि छात्र पिछले २० दिनों से जेएनयू के प्रशासनीक खंड के पास धरने पर बैठे हैं।