Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


चांदके और निकट पहुंचा चंद्रयान-२

इसरोको मिली एक और सफलता
बेंगलुरू (एजेंसी)। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान  को आज एक और कामयाबी हासिल हुई है. चंद्रयान-2 ने   चांद की दूसरी कक्षा  में सफलतापूर्वक प्रवेश कर लिया है. आज दोपहर के साढ़े बारह बजे से डेढ़ बजे के बीच चांद की दूसरी कक्षा रुक्चहृ-2 में चंद्रयान-2 दाखिल हुआ. खास बात यह है कि चंद्रयान-2 अब इसी कक्षा में अगले सात दिनों तक चांद का चक्कर लगाएगा. ये चक्कर 118 किलोमिटर की एपीजी और 4,412 किलोमिटर की पोरीजी वाली अंडाकार कक्षा में लगाएगा. इसरो के वैज्ञानिकों के द्वारा 28 अगस्त को इसे चांद की तीसरी कक्षा में शिफ्ट किया जाएगा।  चांद की पहली कक्षा में कल पहुंचा था-इसरो का बेहद महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट चंद्रयान-2 30 दिनों के सफर के बाद चांद की पहली कक्षा में कल यानी मंगलवार को सफलतापूर्वक पहुंच गया था. चंद्रयान के इस मुश्किल फेज को पार करने के बाद इसरो के चेयरमैन डॉक्टर के सिवन  ने प्रेस वार्ता कर जानकारी दी थी. सिवन ने कहा था कि अंतरिक्ष यान ने आज एक मील का पत्थर पार कर लिया. यह पूरी प्रक्रिया 30 मिनट तक चली. उसे सही तरीके से तय ऑर्बिट में रखा गया. अब यह 88 डिग्री के झुकाव के साथ चंद्रमा के चारों ओर चक्कर लगा रहा है। सात सितंबरको चांदकी सतहपर उतरेगा- बता दें कि 7 सितंबर को चांद्रयान चांद के सतह पर उतरेगा. इससे पहले 2 सितंबर को लैंडर विक्रम अपने ऑर्बिटर से अलग हो जाएगा. इसके बाद लैंडर विक्रम 7 सितंबर को चांद की सतह पर उतरेगा।