Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


बुनियादी सुविधाएं देनेसे दूर होगी गरीबी-मोदी

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज जोर देकर कहा कि वंचितों तथा गरीबों को सुविधा संपन्न बनाकर गरीबी से निजात पायी जा सकती है। मोदी ने कहा जब गरीब और वंचित को बुनियादी सुविधाएं मिल जायेंगी तो वे खुद ही गरीबी से मुकाबला कर लेंगे। पिछले चार सालों में यह बदलाव हुआ है और आंकडें इसको साबित करते हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि सरकार लोगों की अपेक्षाओं को पूरा करने में कोई कसर नहीं छोड रही है। देश में प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल विकासशील देशों के लिए एक मॉडल बन रहा है। प्रौद्योगिकी और मानव संवेदनशीलता के मेल से जीवन सुलभ और सरल बना है। इसके लिए उन्होंने जल मार्गों और हवाई यात्रा के क्षेत्र में हुई प्रगति का उदाहरण दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि रसोई गैस का सिलेंडर अब जल्दी मिलता है, आयकर के रिफंड का भुगतान जल्दी होता है। पासपोर्ट बनने में बहुत कम समय लगता है।
उन्होंने कहा कि सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना, उज्जवला और सौभाग्य योजनाओं के लाभार्थिंयों के पास खुद पहुंच रही है। उन्होंने आयुष्मान योजना का भी उल्लेख किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि इन योजनाओं के लाभार्थी मजदूर, श्रमिक और किसान आदि हैं। गरीबों को सशक्त बनाने के इस आंदोलन को और मजबूत बनाया जायेगा। पूरी दुनिया भारत की प्रगति के बारे में जानती है।
---------------------------------
पश्चिम बंगालमें यात्राएं रद नहीं-शाह

नयी दिल्ली(एजेंसी)। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को कहा कि पश्चिम बंगाल में भाजपा की बढ़त से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी डरी हुई हैं और भगवा दल को तीन 'यात्राओं’ की अनुमति नहीं देकर वह प्रदेश में लोकतंत्र का 'गला घोंट’ रही हैं। ममता बनर्जी सरकार से इजाजत नहीं मिलने और अदालत से भी राहत नहीं मिलने के कारण भाजपा को राज्य में तीन 'रथ यात्राएं’ रद्द करना पड़ी थी। उसी की पृष्ठभूमि में शाह ने यह कहा। शाह ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, हम निश्चित तौर पर यात्राएं निकालेंगे और हमें कोई नहीं रोक सकता। पश्चिम बंगाल में बदलाव के प्रति भाजपा प्रतिबद्ध है। 'यात्राएं’ रद्द नहीं, सिर्फ स्थगित हुई हैं।‘’उन्होंने कहा कि यात्राओं की इजाजत लेने के लिए उनकी पार्टी न्यायिक प्रक्रिया का पालन करेगी। कलकत्ता उच्च न्यायालय ने एक दिन पहले भाजपा को कूचबिहार में 'रथयात्रा’ निकालने की अनुमति देने से इनकार कर दिया था क्योंकि राज्य सरकार ने ऐसा होने पर हिंसा का अंदेशा जताया था। शाह इन यात्राओं को शुक्रवार को हरी झंडी दिखाने वाले थे। भाजपा ने खंडपीठ के समक्ष अपील की है। शाह के आरोपों का अभी ममता बनर्जी या उनकी पार्टी की ओर से कोई जवाब नहीं दिया गया है। बनर्जी और उनकी पार्टी पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि राज्य के लोग बदलाव के लिए तैयार हैं।  उन्होंने जोर देकर कहा कि लोकसभा चुनाव में प्रदेश में पार्टी अधिक से अधिक सीटें जीतेगी। शाह ने कहा कि ममता जानती हैं कि ये यात्राएं बदलाव की नींव रखेंगी इसलिए वह उन्हें रोकने की कोशिश कर रही हैं। शाह ने बताया कि शनिवार को वह राज्य के दौरे पर जाएंगे और मुख्यमंत्री को बिन मांगी सलाह देंगे कि जितना उनकी सरकार भाजपा को दबाने की कोशिश करेगी, उतनी ज्यादा नाराजगी जनता के बीच बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि राज्य में पंचायत चुनाव में इस सरकार में जितनी हिंसा हुई उतनी वाम मार्चा की सरकार में भी नहीं हुई थी। ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली पश्चिम बंगाल सरकार पर तीखा हमला बोलते हुए शाह ने आरोप लगाया कि देश में सर्वाधिक सियासी हत्याएं राज्य में हुई हैं। इसके लिए उन्होंने एक अध्ययन का हवाला भी दिया।