Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


कप्तान कोहलीने गंवायी पहली टेस्ट शृंखला

लुंगी एडगिनीको पहले ही टेस्टमें छह विकेट
सेंचुरियन (एजेंसियां)। घरके शेर भारतीय बल्लेबाजोंने एक बार फिर दक्षिण अफ्रीकाके तेज गेंदबाजी आक्रमणके सामने घुटने टेक दिये, जिससे टीमको दूसरे टेस्टमें १३५ रनकी शिकस्तका सामना करना पड़ा और विराट कोहलीकी टीमके लगातार नौ टेस्ट शृंखला जीतनेके अभियानपर भी विराम लग गया। पहले टेस्टमें ७२ रनसे जीत दर्ज करने वाली दक्षिण अफ्रीकाने इस तरह तीन मैचोंकी शृंखलामें २-० अपराजेय बढ़त बना ली। दक्षिण अफ्रीकाके २८७ रनके लक्ष्यका पीछा करते हुए भारतीय टीम असमान उछाल वाली सुपर स्पोट्र्स पार्ककी पिचपर पांचवें और अंतिम दिन दूसरी पारीमें ५०.२ ओवरमें १५१ रनपर ढेर हो गयी। टीम इंडियाकी ओरसे रोहित शर्माने सर्वाधिक ४७ रन बनाये। फाफ डु प्लेसिसकी अगुआई वाली दक्षिण अफ्रीकी टीमने इसके साथ ही २०१५ में भारतमें मेजबान टीमके हाथों ०-३ की हारका बदला भी चुकताकर लिया।दक्षिण अफ्रीकाकी ओरसे पदार्पण कर रहे तेज गेंदबाज लुंगी एनगिडी सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने १२.२ ओवरमें ३९ रन देकर छह विकेट हासिल किये। उसे मैन आफ द मैच चुना गया। । भारतीय टीममें काफी खामियां देखनेको मिली। उपमहाद्वीपके बाहर एक सालसे अधिक समयमें सिर्फ दूसरा टेस्ट खेल रहे भारतके टीम चयनसे लेकर शाट चयनमें खामियां दिखी। टीममें जज्बेकी कमी और विकेटके बीच दौड़को लेकर सामंजस्यकी कमी भी रही। ।इस बीच एनगिडी, लांस क्लूजनर (भारतके खिलाफ १९९६ में ६२ रन पर आठ विकेट), चाल्र्स लेंगवेल्ट (इंग्लैंड के खिलाफ २००५ में ४६ रन पर पांच विकेट), वर्नन फिलेंडर (आस्ट्रेलिया के खिलाफ २०११ में १५ रनपर पांच विकेट), मर्चेन्ट डि लेंगे (श्रीलंकाके खिलाफ २०११ में ८१ रनपर सात विकेट) और काइल एबोट (पाकिस्तान के खिलाफ २०१३ में २९ रनपर सात विकेट) के बाद दक्षिण अफ्रीकाके छठे तेज गेंदबाज बने जिसने पदार्पण मैचमें ही पारीमें पांच या इससे अधिक विकेट हासिल किये। भारतने दिनकी शुरूआत तीन विकेटपर ३५ रनसे ही और जल्द ही उसका स्कोर सात विकेटपर ८७ रन हो गया।  सुबहकी १९वीं गेंदपर चेतेश्वर पुजारा (१९) मैचमें दूसरी बार रन आउट हो गये। वह गैरजरूरी तीसरे रनके लिए दौड़े लेकिन एबी डिविलियर्सकी थ्रोपर क्विंटन डिकाकने उन्हें रन आउटकर दिया। पुजारा एक ही टेस्टकी दोनों पारियोंमें रन आउट होने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज हैं। तीन ओवर बाद पार्थिव पटेल (१९) भी पैवेलियन लौट गये जब कागिसो रबादा (४७ रन पर तीन विकेट) की गेंदपर मोर्ने मोर्कलने डीप स्क्वायर लेग बाउंड्रीपर उनका शानदार कैच लपका। हार्दिक पंड्या (०६) भी इसके बाद एनगिडी की गेंद को स्लिप के ऊपर से खेलने के प्रयास में विकेट के पीछे कैच दे बैठे।एनगिडी ने रविचंद्रन अश्विन (०३) को विकेट के पीछे कैच कराकर भारतकी टेस्ट ड्रा करानेकी उम्मीदोंको लगभग ध्वस्तकर दिया। रोहित (७४ गेंद में ४७ रन, छह चौके, एक छक्का) और मोहम्मद शमी (२४ गेंद में २८ रन, पांच चौके) ने आठवें विकेटके लिए ६१ गेंद में ५४ रन की साझेदारी करके ३९वें ओवरमें भारतका स्कोर १०० रनके पार पहुंचाया। रबादाने डीपमें रोहितको कैच कराके इस साझेदारीको तोड़ा। छह गेंद बाद एनगिडीकी गेंदको पुल करनेकी कोशिशमें शमी भी मिड आनपर कैच दे बैठे जिससे इस तेज गेंदबाजने पांचवां विकेट हासिल किया। दो ओवर बाद एनगिडीने जसप्रीत बुमराह (०२) की पारीका अंत करके भारतकी  हार तय की। इशांत शर्मा चार रन बनाकर नाबाद रहे। श्रृंखलाका तीसरा और अंतिम टेस्ट जोहानिसबर्गमें २४ जनवरीसे खेला जायेगा। पूर्णकालिक कप्तानके रूपमें कोहलीने पहली बार कोई टेस्ट श्रृंखला गंवायी है। कोहलीने हालांकि मैचमें पहली पारीमें बल्लेसे शानदार प्रदर्शन करते हुए १५३ रन बनाये।
स्कोर बोर्ड
दक्षिण अफ्रीका पहली पारी-३३५ रन।
भारत पहली पारी-३०७ रन।
दक्षिण अफ्रीका दूसरी पारी- २५८ रन।

भारत दूसरी पारी-मुरली विजय बो रबादा ९, केएल राहुल का केशव महराज बो लुंगी ४, चेतेश्वर पुजारा रन आउट १९, विराट कोहली पगबाधा लुंगी ५, पार्थिव पटेल का मोर्न मोर्कल बो रबाडा १९, रोहित शर्मा का डीविलियर्स बो रबाडा ४७,हार्दिक पण्ड्या का डीकाक बो लुंगी ६, रविचन्द्रन अश्विन का डी काक बो लुंगी ३, मोहम्मद शामी का मोर्न मोर्कल बो लुंगी २८, ईशान्त शर्मा अजेय ४, जसप्रीत बुमरा का का फिलेण्डर बो लुंगी २,  अतिरिक्त-५।
योग-५०.२ ओवर में १५१ रन।  
विकेट गिरे-१-११, २-१६, ३-२६,४-४९, ५-६५, ६-८३, ७-८७, ८-१४१, ९-१४५, १०-१५१।
गेंदबाजी-वेर्नोन फिलेंडर १०-३-२५-०, कागिसो रबादा १४-३-४७-३,  लुंगी एनगिडी १२.२-३-३९-६, मोर्नी मोर्कल ८-३-१०-०, केशव महराज ६-१-२६-०।
परिणाम: दक्षिण अफ्रीका १३५ रनसे जीता।