Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


राजौरीमें विस्फोट, मेजर शहीद

जम्मू (एजेंसी)। पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। पुलवामा अटैक के बाद पाक ने सीजफायर का उल्लंघन किया। जानकारी के अनुसार जम्मू कश्मीर के राजौरी में एलओसी के पास ब्लास्ट किया गया, जिसमें सेना का एक अधिकारी शहीद हो गया।  गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार को एक आत्मघाती में सीआरपीएफ के 42 जवान शहीद हो गए। पुलवामा जिले में श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर अपनी विस्फोटकों से लदी एसयूवी केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की बस से टकरा दी और उसमें विस्फोट कर दिया। यह हमला श्रीनगर से करीब 30 किलोमीटर दूर लेथपोरा इलाके में हुआ। पाकिस्तान स्थित आतंकी समूह जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) ने इस नृशंस आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली। इस हमले के बाद भारत ने सख्त रुख अपनाते हुए पाकिस्तान को दिया गया सर्वाधिक तरजीही राष्ट्र (मोस्ट फेवर्ड नेशन) का दर्जा वापस ले लिया।
-----------------------
पुलवामा आतंकी हमलेके खिलाफ १८ को भारत बंद
नयी दिल्ली (एजेंसी) । पुलवामा में शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए पूरे देश के अखिल भारतीय व्यापार परिषद ने १८  को भारत बंद बुलाया है। बता दें कि गुरुवार को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला किया। इस हमले में सीआरपीएफ के करीब ४४ जवान शहीद हो गए। हमले के बाद देश भर में शुक्रवार को कई जगह पाकिस्तान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी किया। इससे पहले देश के विभिन्न हिस्सों में सभी समुदाय के लोगों ने शहीदों को भावभीनीं श्रद्धांजलि दी। देशभर में जगह-जगह "पाकिस्तान मुर्दाबाद" के नारे भी लगाए। पुलवामा में शहीद हुए जवानों के लिए पाकिस्तान के खिलाफ देशभर में गुस्से का माहौल है। कई संगठनों ने भी इस कायराना हरकत का पुरजोर विरोध किया। साथ ही मांग की कि पाकिस्तान और आतंकवाद के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी एक प्रेस वार्ता कर कहा, "हम इस दुख की घड़ी में शहीद परिवारों के साथ खड़े हैं और हम देश की सरकार व सेना के साथ खड़े हैं। उन्होंने कहा कि सरकार पाकिस्तान के खिलाफ जो भी कार्रवाई करेगी। हम सरकार के साथ खड़े हैं। वहीं शुक्रवार को सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय सुरक्षा समिति की बैठक हुई, जिसमें भारत ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर नेशन का दर्जा वापस ले लिया है। इसके साथ ही बैठक में पाकिस्तान के खिलाफ कई फैसले लिए गए।