Tel: 0542 - 2393981-87 | Mail: ajvaranasi@gmail.com


नवीनतम समाचार » केजरीवालका धरना समाप्त

केजरीवालका धरना समाप्त

नयी दिल्ली(आससे)। पिछले ९ दिनों से उपराज्यपाल के आवास पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्रिमंडलीय सहयोगियों का धरना आज समाप्त हो गया। धरना समाप्त होने के साथ ही उपराज्यपाल अनिल बैजल ने पत्र के माध्यम से अपनी चुप्पी तोड़ते हुये मुख्यमंत्री से अनुरोध किया है कि वह तत्काल सचिवालय में आईएएस अधिकारियों के साथ बैठक करें और बातचीत के माध्यम से मतभेद दूर करें। राजनिवास की तरफ से एक बयान में मुख्यमंत्री से अनुरोध किया गया है कि वह तत्काल सचिवालय में आईएस अधिकारियों के साथ बैठक करें और बातचीत से मतभेद दूर करें। पत्र में कहा गया है कि यही दिल्ली की जनता के हित में होगा। वहीं दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दिल्ली सरकार की बैठक में अधिकारियों ने आना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि आज मुख्य सचिव तक ने मंत्री की बैठक में हिस्सा लिया। सिसोदिया ने घोषणा की कि मुख्यमंत्री का धरना अब खत्म हो गया है। अरविंद केजरीवाल राजभवन से वापस आ जायेंगे। उन्होंने कहा कि अधिकारियों ने फोन भी उठाना शुरू कर दिया है और बैठकों में उनके आने के बाद कई समस्याओं का समाधान हुआ है।  इससे पहले आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने संवाददाता सम्मेलन में मोदी सरकार पर हमला करते हुये कहा कि प्रधानमंत्री जब पाकिस्तान से बात कर सकते हैं तो क्या वह हमसे बात नहीं कर सकते। क्या दिल्ली के लोगों के लिये काम करना गलत है।  मालूम हो कि केजरीवाल अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों के साथ पिछले ९ दिनों से राजभवन में धरना दे रहे थे। बीते मंगलवार को तबीयत बिगडऩे की वजह से उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सतेन्द्र जैन को इलाज के लिये अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दोनों को आज अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी और सभी मंत्रियों ने अपना कामकाज संभाल लिया है।
-----------------------
हर थानेमें  होगी बाल अपराध पर कानूनी हैंडबुक-मेनका
नयी दिल्ली,(आससे)। महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने आज बच्चों के साथ अपराधों के विषय पर पुलिस के लिये कानूनी प्रक्रियाओं  हेतु एक हैंडबुक जारी किया। इस मौके पर मेनका गांधी ने सभी संबंधित पक्षों से आह्वान किया कि बच्चों के खिलाफ होने वाले अपराधों से निपटने के लिये वे एकजुट हों। इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुये मेनका गांधी ने कहा कि सरकार देश मेंमहिलाओं एवं बच्चों के खिलाफ होने वाली हिंसा से मुक्त वातावरण सुनिश्चित करने के लिये पूरी तरह प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि उनका मंत्रालय चिन्हित संबंधित पक्षों के साथ मिलकर काम करेगा और यह सुनिश्चित किया जायेगा कि यह हैंडबुक स्थानीय भाषाओं में देश के सभी पुलिस थानों में उपलब्ध रहे।  मेनका गांधी ने जोर देकर कहा कि सरकार ने इस समस्या से निपटने के लिये हर कदम उठाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि इसका सबसे महत्वपूर्ण पहलु यह है कि पुलिस एजेंसियों के कौशल और दक्षता में वृद्धि की जाय। उन्होंने कहा कि चाइल्ड लाइन और रेलवे चाइल्ड लाइन की सेवाएं बेहद सफल साबित हुयी हैं और कई गुमशुदा बच्चों को उनके परिजनों से मिलवाने में इन सेवाओं ने बेहद महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है।